मात्रकों की प्रणालियाँ (System of Units) भौतिक विज्ञान (Physics)

मात्रकों की प्रणालियाँ (System of Units) भौतिक विज्ञान (Physics)मापनों का वर्णन करने के लिए मात्रकों की कई प्रणालियाँ इस्तेमाल की गई हैं . CGS प्रणाली (सेंटीमीटर के लिए C, ग्राम के लिए G, से सेकंड के लिए S)

मात्रकों की प्रणालियाँ (System of Units) भौतिक विज्ञान (Physics)

 

तीन मूल मात्रकों-लंबाई, द्रव्यमान और समय मापन के लिए क्रमशः सेंटीमीटर, ग्राम और सेकंड पर आधरित है.

लंबाई सेंटीमीटर
द्रव्यमान ग्राम
समय सेकंड
  • FPS प्रणाली या ब्रिटिश प्रणाली में लंबाई, द्रव्यमान तथा समय के मापन के लिए क्रमशः फुट, पांउड तथा रोकड का इस्तेमाल किया जाता है.
  • ‘MKS’ प्रणाली लंबाई के लिए मीटर, द्रव्यमान के लिए किलोग्राम और समय के लिए सेकंड पर आधारित है.
  • 1954 में आयोजित माप-तौल महासम्मेलन ने मीट्रिक प्रणाली को अंतर्राष्ट्रीय रूप से उपयुक्त प्रणाली के रूप में अपनाया.
  • 1960 से अब यह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त प्रणाली है जिसे ‘सिस्टम इंटरनेशनल ‘डी यूनिटस’ तथा संक्षेप में SI लिखा जाता है.

अन्तर्राष्ट्रीय मात्रक पद्धति [(System International (S.I.) Units]

  • इस पद्धति में सात मूल मात्रक तथा दो पूरक मूल मात्रक प्रयुक्त किए जाते हैं .
  • सात मूल मात्रक हैं-
  1. लम्बाई (Length),
  2. द्रव्यमान (Mass),
  3. समय (Time),
  4. ताप (Temperature),
  5. विद्युत धारा (Electric Current)
  6. ज्येाति तीव्रता (Luminous Intensity)
  7. अणुभार के बराबर पदार्थ की ग्राम में मापी गई मात्रा के लिए मोल (Mole) प्रयुक्त किये जाते हैं.

इसके अतिरिक्त दो पूरक मूल मात्रक हैं–

  1. रेडियन (तलीय कोण के लिए)
  2. स्टे रेडियन (घन कोण के लिए)

The Seven Basic SI Units

राशि (Quantity) मात्रक (Unit) प्रतीक (Symbol)
लम्बाई (Length) मीटर (Metre) M
द्रव्यमान (Mass) किलो ग्राम (Kilogram) Kg
समय (Time) सेकंड (Second) S
ताप (Temperature) केल्विन (Kelvin) K
पदार्थ की मात्रा (Amount of Substance) मोल(Mole) mol
विद्युत-धारा (Electric Current) एम्पियर (Ampere) A
ज्योति-तीव्रता (Luminous Intensity) कैंडेला (Candela) Cd

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *