पृथ्वी की आयु | भूगोल (Age of Earth in Hindi | Geography )

पृथ्वी की आयु (Age of Earth)

पृथ्वी की उत्पत्ति और विकास (Origin and Evolution of Earth)

 

  • पृथ्वी के निर्माणकाल का विषय भी इसकी उत्पत्ति की तरह रहस्यपूर्ण है.
  • विभिन्न विद्वानों ने अपने प्रयोगों तथा तर्कों के आधार पर पृथ्वी की आयु की वास्तविक गणना करने का प्रयास किया है.
  • लेकिन इनके परिणाम एक न होकर भिन्न-भिन्न हैं.
  • आज के वैज्ञानिक और तकनीकी आ की उपलब्धियों के पश्चात् भी पृथ्वी की सही आयु को नहीं जाना जा सकता है.
  • ईरान के धार्मिक विद्वानों के अनुसार पृथ्वी की उत्पत्ति लगभग 1200 वर्ष पहले हुई थी लेकिन यह असत्य है.
  • भारत की प्राचीन धार्मिक मान्यताओं के अनुसार यी की आयु करीब 200 मिलियन वर्ष है, जो वर्तमान वैज्ञानिक प्रमाणों के आसपास है लेकिन यह कल्पनाओं के आधार पर है.
  • पृथ्वी की आयु लगभग 19 करोड़ वर्ष सागरीय लवणता के आधार पर है जबकि तलछट के जमाव के प्रमाणों के आधार पर यह 50 करोड़ से 633 करोड़ वर्ष है.
  • पृथ्वी की आयु लगभग 4 अरब वर्ष चन्द्रमा की ज्वारीय शक्ति के आधार पर मानी जाती है जबकि पृथ्वी के ठण्डा होने की गति के आधार पर 4 करोड़ वर्ष मानी जाती है.
  • पृथ्वी की सही आयु का अनुमान रेडियोएक्टिव खनिज विधि के आधार पर लगाया गया है जो 2 अरब वर्ष से 3 अरब वर्ष तक माना जाता है.
  • इस तरह कुछ मत तो इतने आपक और गलत हैं कि उनसे सन्देहास्पद अवधारणायें उत्पन्न होती हैं.
  • इनमें अधिकांश मत कल्पनाओं और अनुमानों पर आधारित हैं.
  • गणना के आधार पर यह निश्चयपूर्वक कह्म जा सकता है कि पृथ्वी की आयु 200 करोड़ वर्ष से कम नहीं हो सकती है.
  • इस क्षेत्र में रेडियो-सक्रिय पदार्थों के प्रभाव को ही आधार माना जाता है और पृथ्वी की आयु 200 से 300 करोड़ वर्ष के बीच रखी जा सकती है.

 

पृथ्वी की उत्पत्ति और विकास (Origin and Evolution of Earth)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *