लॉर्ड रिपन, 1880-1884 (Lord Ripon, 1880-1884) आधुनिक भारत (MODERN INDIA) इलबर्ट बिल विवाद

लॉर्ड रिपन, 1880-1884 (Lord Ripon) आधुनिक भारत

लॉर्ड रिपन, 1880-1884 (Lord Ripon, 1880-1884) आधुनिक भारत (MODERN INDIA) लॉर्ड रिपन, 1880-1884 (Lord Ripon) लॉर्ड रिपन 1880 में भारत का गवर्नर जनरल बना. उसने भारत के प्रति अपनी नीति का इन शब्दों में वर्णन किया. भारत में रहने का हमारा अधिकार इस तर्क पर आधारित है कि भारत में हमारा शासन भारतीयों के लिए …

लॉर्ड रिपन, 1880-1884 (Lord Ripon) आधुनिक भारत Read More »

लॉर्ड लिटन, 1876-80 (Lord Lytton, 1876-1880)आधुनिक भारत (MODERN INDIA)

लॉर्ड लिटन, 1876-80 (Lord Lytton, 1876-1880)आधुनिक भारत

लॉर्ड लिटन, 1876-80 (Lord Lytton, 1876-1880)आधुनिक भारत (MODERN INDIA) लॉर्ड लिटन 1876-80 (Lord Lytton) अप्रैल 1876 में लॉर्ड लिटन ने लॉर्ड नार्थबुक के उत्तराधिकारी के रूप में भारत के गवर्नर जनरल का पद भार सम्भाला. लॉर्ड लिटन और मुक्त व्यापार (Lord Lytton and Free Trade): जुलाई, 1877 में ब्रिटिश सरकार ने लॉर्ड लिटन को यह …

लॉर्ड लिटन, 1876-80 (Lord Lytton, 1876-1880)आधुनिक भारत Read More »

लॉर्ड कैनिंग, 1856-1862 (Lord Canning, 1856-1862) अन्तिम गवर्नर जनरल तथा सम्राट के अधीन प्रथम वायसराय आधुनिक भारत (MODERN INDIA)

लॉर्ड कैनिंग, 1856-1862 (Lord Canning, 1856-1862) आधुनिक भारत

लॉर्ड कैनिंग, 1856-1862 (Lord Canning, 1856-1862) आधुनिक भारत (MODERN INDIA) लॉर्ड कैनिंग, 1856-1862 (Lord Canning) लॉर्ड कैनिंग के शासन काल की सबसे महत्वपूर्ण घटना 1857 का विद्रोह था. इसी के फलस्वरूप 1858 में ईस्ट इण्डिया कम्पनी समाप्त कर दी गई थी तथा भारत सरकार का उत्तरदायित्व सम्राट ने अपने हाथों में ले लिया. इस प्रकार …

लॉर्ड कैनिंग, 1856-1862 (Lord Canning, 1856-1862) आधुनिक भारत Read More »

लॉर्ड डलहौजी, 1848-1856 (Lord Dalhousie) व्यपगत का सिद्धांत (The Doctrine of Lapse)

लॉर्ड डलहौजी, 1848-1856 (Lord Dalhousie) व्यपगत का सिद्धांत (The Doctrine of Lapse)

लॉर्ड डलहौजी, 1848-56 (Lord Dalhousie in Hindi) व्यपगत का सिद्धांत (The Doctrine of Lapse) लॉर्ड डलहौजी (Lord Dalhousie in Hindi) जनवरी, 1848 में लॉर्ड हार्डिंग के स्थान पर लॉर्ड डलहौजी को भारत का गवर्नर जनरल बनाया गया. उसका पूरा नाम अल ऑफ डलहौजी (Earl of Dalhousie) था. उसका प्रमुख उद्देश्य भारत में ब्रिटिश साम्राज्य का …

लॉर्ड डलहौजी, 1848-1856 (Lord Dalhousie) व्यपगत का सिद्धांत (The Doctrine of Lapse) Read More »

लार्ड हार्डिंग, 1844-1848 (Lord Hardinge, 1844-1848)आधुनिक भारत (MODERN INDIA)

लार्ड हार्डिंग, 1844-1848 (Lord Hardinge, 1844-1848) आधुनिक भारत

लार्ड हार्डिंग, 1844-1848 (Lord Hardinge, 1844-1848)आधुनिक भारत (MODERN INDIA) लार्ड हार्डिंग, 1844-1848 (Lord Hardinge) भारत में गवर्नर जनरल के रूप में आने से पूर्व लार्ड हार्डिंग 20 वर्ष तक पार्लियामेंट में रहा था. उसने युद्ध सचिव के रूप में कार्य किया था. वह पेनिनसुलर युद्ध का नायक था तथा उसने वाटरलू की लड़ाई में भी भागेदारी …

लार्ड हार्डिंग, 1844-1848 (Lord Hardinge, 1844-1848) आधुनिक भारत Read More »

लार्ड एलनबरो, 1842-1844 (Lord Ellenborough, 1842-1844)आधुनिक भारत (MODERN INDIA)

लार्ड एलनबरो, 1842-1844 (Lord Ellenborough, 1842-1844) आधुनिक भारत

लार्ड एलनबरो, 1842-1844 (Lord Ellenborough, 1842-1844)आधुनिक भारत (MODERN INDIA) लार्ड एलनबरो 1842-1844 (Lord Ellenborough) भारत की बागडोर सम्भालने के लिए लार्ड एलनबरो को ऐसे समय में भेजा गया.जब अफगानिस्तान में अंग्रेजों की हार हो चुकी थी और स्थिति अत्यन्त गम्भीर थी. एलनबरो के समय में सर्वप्रथम अफगान युद्ध को सफलतापूर्वक दबाया गया. सिन्ध पर विजय …

लार्ड एलनबरो, 1842-1844 (Lord Ellenborough, 1842-1844) आधुनिक भारत Read More »

महाराजा रणजीत सिंह और उसके उत्तराधिकारीः आंग्ल-सिख युद्ध (MAHARAJA RANJIT SINGH AND HIS SUCCESSORS: ANGLO-SIKH WARS)

महाराजा रणजीत सिंह और उसके उत्तराधिकारीः आंग्ल-सिख युद्ध (MAHARAJA RANJIT SINGH AND HIS SUCCESSORS: ANGLO-SIKH WARS)

महाराजा रणजीत सिंह और उसके उत्तराधिकारीः आंग्ल-सिख युद्ध (MAHARAJA RANJIT SINGH AND HIS SUCCESSORS: ANGLO-SIKH WARS) महाराजा रणजीत सिंह (MAHARAJA RANJIT SINGH) महाराजा रणजीत सिंह का जन्म 2 नवम्बर, 1780 को शुकरचकिया मिसल के मुखिया महासिंह के घर हुआ. 1760 के बाद से पंजाब में सिख मिसलों (बराबर के लोगों का संगठन) का प्रभाव बढ़ने …

महाराजा रणजीत सिंह और उसके उत्तराधिकारीः आंग्ल-सिख युद्ध (MAHARAJA RANJIT SINGH AND HIS SUCCESSORS: ANGLO-SIKH WARS) Read More »

सिन्ध का विलय (THE ANNEXATION OF SINDH)आधुनिक भारत (MODERN INDIA)

सिन्ध का विलय (THE ANNEXATION OF SINDH) आधुनिक भारत

सिन्ध का विलय (THE ANNEXATION OF SINDH)आधुनिक भारत (MODERN INDIA) सिन्ध का विलय (THE ANNEXATION OF SINDH) 18वीं शताब्दी में सिंध पर कल्लौरा सरदार राज्य करते थे. 1783 में मीर फतह अली खां ने सिंध पर अपना प्रभुत्व स्थापित कर लिया. सन् 1800 में मीर फतह अली खां की मृत्यु के बाद उसके भाइयों (इन्हें …

सिन्ध का विलय (THE ANNEXATION OF SINDH) आधुनिक भारत Read More »

विलियम केवेंडिश बेंटिक, 1828-1835 (William Cavendish Bentinck in Hindi, 1828-1835)

विलियम केवेंडिश बेंटिक(बैंटिंक), 1828-1835 (William Cavendish Bentinck in Hindi)

विलियम केवेंडिश बेंटिक(बैंटिंक), 1828-1835 (William Cavendish Bentinck in Hindi, 1828-1835) विलियम बेंटिक (William Cavendish Bentinck in Hindi) विलियम बेंटिक (बैंटिंक) ने जुलाई, 1828 में लार्ड एमहर्ट के उत्तराधिकारी के रूप में भारत के गवर्नर जनरल का पदभार संभाला. विलियम बेंटिक एक उदारवादी राजनेता था. विलियम बेंटिक भारत में उन्हीं आदर्शों से प्रेरित हुआ जिनसे ब्रिटेन में …

विलियम केवेंडिश बेंटिक(बैंटिंक), 1828-1835 (William Cavendish Bentinck in Hindi) Read More »

लार्ड एमहर्स्ट, 1823-28 (Lord Amherst, 1823-28) आधुनिक भारत (MODERN INDIA)

लार्ड एमहर्स्ट, 1823-28 (Lord Amherst, 1823-28) | आधुनिक भारत

लार्ड एमहर्स्ट, 1823-28 (Lord Amherst, 1823-28) आधुनिक भारत (MODERN INDIA) लार्ड एमहर्स्ट (Lord Amherst) बर्मा का प्रथम युद्ध (Burma’s first war) लार्ड एमहर्स्ट के समय की सबसे महत्वपूर्ण घटनाएं बर्मा का प्रथम युद्ध तथा भरतपुर का युद्ध थीं. बर्मा एक स्वतंत्र राष्ट्र या तथा इसके निवासी अंग्रेजी ईस्ट इण्डिया कम्पनी के उपनिवेश की शान्ति और …

लार्ड एमहर्स्ट, 1823-28 (Lord Amherst, 1823-28) | आधुनिक भारत Read More »

Scroll to Top