बहमनी साम्राज्य (Bahmani Empires in Hindi)

बहमनी साम्राज्य (Bahmani Empires in Hindi)हसन गंगू बहामनी(Hasan Gangu bahmani)-सुल्तान मुहम्मद तुगलक के शासन काल (1325-51 ई.) में दिल्ली सल्तनत के कई अमीरों ने विद्रोह कर दिए थे.

  • दक्षिण में फारस के सुल्तान बहमनदीन इस्कन्दियार का वंशज ‘हसन गंगू ‘ (हसन गंगू बहामनी)1347 ई. में विद्रोह करके स्वतन्त्र हो गया.
  • हसन गंगू  11 अगस्त, 1347 ई. को अब-ए-मुजफ्फर अलाउद्दीन बहमन शाह की उपाधि धारण करके शासक बना.
  • उसने गुलबर्गा को अपनी राजधानी बनाया तथा समस्त साम्राज्य को चार बड़े प्रान्तों-बरार, बीदर, दौलताबाद तथा गुलबर्गा में विभाजित किया.
  • 11 फरवरी, 1358 ई. को उसकी मृत्यु हो गई.

उसके पश्चात् क्रमशः

  • मुहम्मद प्रथम (11 फरवरी, 1358 से 21 अप्रैल, 1375 ई. तक),
  • दाऊदशाह (16 अप्रैल, 1378 से 21 मई, 1378 ई. तक),
  • मुहम्मद शाह द्वितीय (21 मई, 1378 से 20 अप्रैल, 1397 ई. तक),
  • गयासुद्दीन उर्फ तहमतन (अप्रैल, 1897 में 14 जून, 1397 ई. तक),
  • शम्सुद्दीन दाऊद द्वितीय (14 जून, 1397 से 11 नवम्बर, 1397 ई. तक),
  • ताजुद्दीन फिरोज (11 नवम्बर 1397 से 22 सितम्बर, 1422 ई.),
  • शिहाबुद्दीन अहमद प्रथम (22 दिसम्बर, 1422 से 14 जुलाई, 1436 ई. तक),
  • अलाउद्दीन अहमद द्वितीय (14 जुलाई, 1436 से 4 मार्च, 1458 ई. तक),
  • हुमायूँ शाह (4 मार्च, 1458 से 1 सितम्बर, 1461 ई. तक),
  • अहमद हसन तथा रीजेन्सी (30 जुलाई, 1463 से 22 मार्च, 1482 ई. तक) आदि थे.

महमूद तृतीय के पश्चात् उसका बारह वर्षीय पुत्र व उत्तराधिकारी महमूद शाह अयोग्य तथा विलासी शासक सिद्ध हुआ. बहमनी वंश का अन्तिम सुल्तान कलीमुल्लाशाह था.

1527 ई. में उसकी मृत्यु के साथ बहमनी राज्य का भी अन्त हो गया और उसके भग्नावशेषों पर पाँच राज्य उठ खड़े हुए. वे राज्य थे—

  1. बीदर का बीदरशाही राज्य,
  2. बीजापुर का आदिलशाही राज्य
  3. अहमद नगर का निजामशाही राज्य,
  4. बरार का इमादशाही राज्य और
  5. गोलकुण्डी का कुतुबशाही राज्य .

बहमनी साम्राज्य (Bahmani Empires in Hindi) हसन गंगू बहामनी Hasan Gangu bahmani , Ala-ud-Din Hasan Bahman Shah

Related Links

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top